Friday, 8 April 2016

शुभ कामनाएँ !



नव संवत्सर, गुडी पाडवा ,चेटी चण्ड एवं उगादी पर्व की हार्दिक शुभ कामनाएँ !
-डॉ. ज्योत्स्ना शर्मा  
मेरे घर से आप का , यूँ तो घर है दूर 
मगर दुआ के पेड़ हैं, छाया ,फल भरपूर 

माँ मंजूषा स्नेह की , माँ ममता की खान 
संचित शत सद्कर्म से ,मिले भक्ति वरदान 

जन्मा,पाला,दंड दे, दिया सुघड़ मन, वेश 
माँ तुझमें तीनों बसे ,ब्रह्मा ,विष्णु ,महेश 

          ~~~~~*****~~~~~
                    (चित्र गूगल से साभार )

16 comments:

  1. माँ तुझमें तीनों बसे ,ब्रह्मा ,विष्णु ,महेश

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत आभार ...शुभ कामनाएँ !

      Delete
  2. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शनिवार (09-04-2016) को "नूतन सम्वत्सर आया है" (चर्चा अंक-2307) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    --
    चैत्र नवरात्रों की
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
    Replies
    1. बहुत आभार ...शुभ कामनाएँ !

      Delete
  3. Get upto 20% off on paperback package on occasion of Navratri, visit us today and publish your book on very best price, OnlineGatha Provide top notch publishing,printing and marketing services, send Request today: https://goo.gl/wHMjh5

    ReplyDelete
  4. बहुत सुंदर । नव वर्ष की मंगलकामनाय ।

    ReplyDelete
  5. बहुत सुंदर, शुभकामनाएँ

    ReplyDelete
  6. माँ तो अतुलनीय, अकल्पनीय है ... सब कुछ जो है ... बहुत शुभकामनायें ...

    ReplyDelete
    Replies
    1. हृदय से आभार आपका !

      Delete